Corona Virus Facts:India Lockdown केंद्र सरकार की महाघोषणा, 170000 करोड़ रुपए का आर्थिक पैकेज i

CORONAVIRUS LIVE UPDATE केंद्र सरकार की महाघोषणा, 170000 करोड़ रुपए का आर्थिक पैकेज हुआ पेश, 8.69 करोड़ किसान शामिल
इंडिया में लॉकडाउन की मार झेल रहे देश के गरीब तबके के लोगो के लिए केंद्र सरकार (PM NARENDRA MODI) द्वारा दिनांक 26 -03 -2020 दिन गुरुवार को  1 लाख 70 हजार करोड़ रुपये की राहत पॅकेज की घोषणा किया गया। जिसमें गरीब तबके के लोगों और महिलाओं पर खास ध्यान दिया गया है।साथ कोरोना वायरस के इलाज में जुटे स्वास्थकर्मियों को ध्यान में रखते हुए,उनके लिए बीमा का ऐलान किया गया है।

LockDown पर की गई प्रमुख राहत पैकेजेस :-

Nirmala sita raman,pm narendra modi

1. गरीबों को 3 महीने तक मुक्त आनाज की घोषणा 

प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के तहत प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना के तहत प्रत्येक गरीब परिवार को प्रति व्यक्ति 5 किलोग्राम गेहूं या चावल दिया जायेगा।साथ ही प्रति परिवार 1 किलोग्राम दाल भी मुक्त में 3 माह तक बाटे जांयेंगे। 
इससे करीब तबके के लोगो में बनी खाने की कमी में थोड़ा बहुत राहत मिल पायेगी और कोई करीब परिवार भूखा नहीं सोएगा। 

लाभार्तीय:- 80 करोड़ यानी देश के 2 /3 आबादी !

2 . प्रत्येक स्वास्थ्यकर्मी का 50 लाख का बीमा 


कोरोना वायरस (COVID-19) से देश को बचाने के लिए अपने जान की परवाह किये बिना 24 घण्टे अपने सेवा प्रदान कर रहे,हमारे देश के सभी स्वास्थ्यकर्मी का अगले 3 माह तक के लिए केंद्र सरकार द्वारा 50 लाख का बीमा का ऐलान किया गया है।

 प्रत्येक स्वास्थ्यकर्मी का 50 लाख का बीमा

जिसमें डॉक्टर,नर्स ,वार्डबॉय,सफाई कर्मचारी,पैरामेडिक्स,टेक्नीशियन,विषेशज्ञ एवं अन्य स्वास्थकर्मिया शामिल होंगे। 

लाभार्तीय:- 22 लाख स्वास्थ्यकर्मी  और 12 लाख डॉक्टर्स !

3 . किसानों को 2000 का क़िस्त अप्रेल में 

प्रधानमंत्री किसान योजना के तहत 2000   हजार रूपये की क़िस्त राशि  प्रति किसान,पहली क़िस्त अप्रेल के पहले सफ्ताह में जारी होंगे। 
यह राशि सीधे उनके बैंक खाते में डाले जायेंगे। 

लाभार्तीय:- भारत के 8.69 करोड़ किसान 

4 . मनरेगा के दिहाड़ी में 11 % की बढ़ोतरी 

केंद्र सरकार द्वारा चलाई जाने वाली महात्मा गांधी रोजगार ग्रारंटी योजना (मनरेगा)के तहत कामगारों की दिहाड़ी 182 रूपये रोज से बढ़ाकर 202 रूपये कर दी गई है। 
 महात्मा गांधी रोजगार ग्रारंटी योजना (मनरेगा)

इससे हर कामगार को अब 2000 रूपये की अतिरिक्त आय मिल पायेगी। 

लाभार्तीय:- भारत के 5 करोड़ परिवार !

5 . उज्ज्वला: 3 माह तक निशुल्क गैस

प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना के तहत जिन महिलाओं को मुक्त गैस कनेक्शन मिला है,उन्हें आने वाले अगले 3 माह तक घरेलु गैस सिलेंडर मुक्त दिए जायेंगे। 
प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना

लाभार्तीय:-8.30 करोड़ बीपीएल परिवार !

6. स्वंय सहायता समूहों को कर्ज 

स्वयं सहायता समूहों से जुड़े महिलाओं को पहले बैंक द्वारा 10 लाख का कॉलेटलर फ्री कर्ज मिलता था,अब उसे दुगना बढ़ा कर 20 लाख कर दिया गया है। 
स्वंय सहायता समूहों

लाभार्तीय:- स्वयं सहायता समूहों से जुड़े 7 करोड़ परिवार !

7 . महिलाओं के जनधन खाते में 1500 सौ रूपये की सहायता राशि 

भारत में प्रधानमंत्री जनधन योजना से खुले प्रत्येक महिलाओं के खाते में आने वाले अगले 3 माह तक प्रति खाते 500 रूपये की सहायता राशि,सीधे उसके जनधन खाते में डालें जायेंगे।
प्रधानमंत्री जनधन योजना
इस तरह केंद्र सरकार द्वारा प्रति खाते 1500 रूपये की सहायता राशि प्रदान किया जायेगा। 

लाभार्तीय:- प्रधानमंत्री जनधन योजना खाते वाले 20 करोड़ महिलाएं !

8. वृद्धा,विक्लांगों को 2 क़िस्त 

वृद्धा,विक्लांगों को अगले 3 माह तक 1000 रूपये की अतिरिक्त राशि प्रदान किया जायेगा।
vidhwa pesion yojna

 इस तरह उन्हे मिल रही पेंशन के अलावा यह सहायता राशि मिला कर दो किस्त दिए जायेंगे। 

लाभार्तीय:- भारत के 3 करोड़ वृद्धा,विक्लांग !

9 . पूरा ईपीएफ  देगी सरकार 

केंद्र 3 महीने तक कर्मचारी भविष्य निधि(ईपीएफ) में कर्मचारी(12%) और नियोक्ता(12%) दोनों योगदान खुद देगी। यानी ईपीएफ में 24% हिस्सा सरकार देगी। '
 ईपीएफ में 24% हिस्सा सरकार देगी
यह ऐसे संस्थानों के लिए है जिनमें 100 कर्मचारी तक है और इनमें से 90% का मासिक वेतन 15,000 रुपये प्रति माह से कम है। इस तरह करीब 5000 करोड़ रूपये खर्च होंगे। 

लाभार्तीय:- 80 लाख कर्मचारी 4 लाख संस्थाएं !

10. 75%  ईपीएफ निकाल सकते है 

सरकार  ईपीएफ योजना के नियमों में संसोधन करेगी। 
 75%  ईपीएफ निकाल सकते है
ताकि मौजूदा महामारी के समय ईपीएफ में जमा राशियों का  75% या 3 महीने के वेतन में से जो कम होगा उसे कर्मचारी निकाल सकेंगे। यह नॉन रिफंड एडवांस होगा। 

लाभार्तीय:- 4.80 करोड़ कर्मचारी 

11. निर्माण मजदूरों के लिए 31 हजार करोड़ रूपये 

निर्माण क्षेत्र से जुड़े 3.5 करोड़ पंजीकृत मजदूरों/कामगारों को 31 हजार करोड़ रूपये का फंड राज्य सरकारों के माध्यम से दिया जाएगा।
निर्माण मजदूरों के लिए 31 हजार करोड़ रूपये

लाभार्तीय:-  3.50 करोड़ पंजीकृत मजदूर/कामगार

विश्व में फैले इस कोरोना वायरस(COVID-19) महामारी के चलते आज भारत के परिवारों के लिए केंद्र सरकार द्वारा जारी किया गया,यह राहत की पैकेजेस सहराहनीय है। 
"सरकार की यही कोशिश रहेगी की भारत के गॉव व शहरों में रह रहे कोई भी गरीब भूखा न सोये।"
सरकार की यह पहल आपको कैसा लगा नीचे कमेंट (comment)कर अपनी राय हम तक जरूर पहुचये। 
आशा करते है,आपने जो ऊपर जिनते भी जानकरी पढ़ी आपको सभी समझा में आया होगा। किसी भी प्रकार की उलझने हो इन जानकरियों को लेकर तो नीचे comment  कर कृपा हमें अवगत कराये। 

टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां